रिश्वतखोर डॉक्टर की लापरवाही से प्रसूता की मौत

03फर्रुखाबाद, N.I.T :  रिश्वतखोर डॉक्टर की लापरवाही से प्रसूता की मौत हो जाने पर परिजनों ने हंगामा मचाया। शहर कोतवाल डीके सिंह ने पीड़ित परिजनों को कार्यवाही करवाने का आश्वासन देकर शांत कराया और मृत प्रसूता अनीता के शव का पंचनामा भरवाने की कार्यवाही की। अनीता थाना मऊदरवाजा के ग्राम आरमपुर निवासी प्रदीप उर्फ सौरभ कठेरिया की 22 वर्षीय पत्नी थी अनीता को बीती रात 7:45 बजे लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टर कृष्णा बोस ने बड़ा ऑपरेशन करके बच्ची को पैदा किया है। उपचार के दौरान अनीता की रात 3:40 बजे मौत हो गई आज सुबह अनीता की सास मीना देवी एवं मां रामप्यारी रिश्तेदार नन्हे आज ने हंगामा मचाया।

पीड़ित महिलाओं ने रोते हुए बताया कि डॉक्टर कषणा बोस ने ऑपरेशन करने के लिए दो हजार रुपए मांगे थे किसी तरह एकत्र करके डॉक्टर को 15 सो रुपए दे दिए गए।500 रुपए ना मिलने के कारण डॉक्टर ने अनीता के टांके नहीं लगाए। जब उसकी हालत बिगड़ने लगी तब कई बार डॉक्टर से अनीता को देखने को कहा गया लेकिन डॉक्टर बॉस अनीता को देखने नहीं गई और साथी डॉक्टर नर्स के साथ कार्यालय में मस्ती करती रही। गुस्साई मीना देवी ने आरोप लगाया कि 500 रुपए न दे पाने के कारण मेरी बहू की मौत हो गई उन्होंने डॉक्टर बोस को परकटी व रंडी कहते हुए ऐसे डॉक्टर को मार डालने व अस्पताल से भगाए जाने को कहा।

01रोते हुए मीना देवी ने बताया कि मेरी मेरी बहू नहीं देवी समान थी जो पहले सास ससुर को खाना खिलाती थी और बाद में स्वयं खाती थी। पुलिस के कहने पर अजमपुर के प्रधान सत्येंद्र सिंह पाल ने मीना देवी की ओर से मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को शिकायत पत्र लिखा। जिसमें कहा गया है कि डॉक्टर मरीज को बिना टांके लगाए चली गई। डॉक्टर की लापरवाही से ही मरीज की मौत हो गई। कमेटी बनाकर जांच करने के लिए कहा गया। लोहिया महिला अस्पताल के कार्यवाहक अधीक्षक डॉ कैलाश ने इस शिकायती पत्र को लिया। अस्पताल में बवाल होने से डॉक्टर व नर्स भयभीत हो गई।

02भय के कारण डॉ पूनम शर्मा ने अप्रेन उतार दिया। उन्होंने डॉक्टर कैलाश से पुलिस सुरक्षा न होने के कारण हमला होने होने की भी आशंका व्यक्त की। थाना कमालगंज के ग्राम रजीपुर निवासी महेश की पुत्री अनीता का बीते 5 वर्ष पूर्व विवाह हुआ था अनीता न बीती रात पहली ही संतान को जन्म दिया था।सौरभ जयपुर में छपाई करता है। पीड़ित परिजनों मुसीबत की घड़ी में सदर विधायक मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी को याद किया कि विधायक मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी को इस मामले में कार्यवाही करबानी चाहिए। जिससे रिश्वतखोर डॉक्टरों को सबक मिले और भविष्य में किसी भी महिला की जिंदगी के साथ खिलवाड़ न हो सके।

0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

CONTACT US

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Sending

Designed by Krypton Technology

Log in with your credentials

Forgot your details?