अभिनेता से नेता बने विनोद खन्ना के निधन के बाद उनकी गुरदासपुर (पंजाब) लोकसभा सीट से भाजपा उनके जैसे ही किसी प्रत्याशी को चुनाव में उतारने की योजना बना रही है. इसके लिए पार्टी को सबसे मजबूत विकल्प अभिनेता अक्षय कुमार के रूप में नजर आ रहा है. नियमानुसार, गुरदासपुर सीट पर छह महीने के भीतर कभी भी उपचुनाव हो सकते हैं.

भाजपा के सूत्रों की मानें तो ‘विनोद खन्ना की जगह लेने के लिए सबसे मुफीद चेहरा अक्षय हो सकते हैं. उनकी छवि साफ-सुथरी है. पिछले कुछ समय में उन्होंने देशभक्ति से जुड़ी कई फिल्मों में काम किया है. वे आज के दौर के ‘भारत कुमार’ (देशभक्तिपूर्ण फिल्मों में काम करने के कारण यह उपनाम मनोज कुमार को दिया गया था) हैं. उन्हें प्रत्याशी बनाने से पार्टी की जीत की संभावनाएं काफी रहेंगी. वैसे भी यह राज्य सभा का चुनाव तो है नहीं. इस चुनाव में जो भी खड़ा हो, उसमें जीतने की संभावना होनी चाहिए. पंजाब विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी अकाली दल-भाजपा गठबंधन की हार के बाद तो इस तथ्य को देखना और जरूरी हो गया है.’

हालांकि पार्टी के हलकों में ऋषि कपूर के नाम पर भी विचार किया जा रहा है. लेकिन ऋषि के खिलाफ जो बात जाती है, वह ये कि ट्विटर वे ‘बातें खूब करते हैं. इससे कई बार विवाद भी खड़े हो जाते हैं.’ लेकिन इसके बावजूद पार्टी में एक वर्ग मानता है कि कपूर खानदान से कोई अब तक राजनीति में नहीं आया है. जबकि यह परिवार पंजाब ही नहीं, देश में भी अच्छा-खासा लोकप्रिय है. ऐसे में यह सही वक्त है, इस परिवार के सदस्य ऋषि को गुरदासपुर सीट से उतारा जा सकता है. ऋषि केंद्र की कई नीतियों का खुलकर समर्थन भी करते रहे हैं.’ सूत्रों के अनुसार, इनके अलावा रवीना टंडन, सनी देओल और सोनू निगम के नामों पर भी विचार हो सकता है.