कम्पिल थाना क्षेत्र ग्राम नुनेरा में लगी भीषण आग, नवजात बच्ची सहित 9 घर जले

आमिर खान, कम्पिल/फर्रुखाबाद, N.I.T : थाना कम्पिल क्षेत्र के गांव नुनेरा में करीब दोपहर 11 बजे संदिग्ध परिस्थितियों में लगी आग से नौ झोपड़ीयो में रखा गृहस्थी का सामान,नकदी व जेबरात जलकर राख की ढेरी में तब्दील हो गये। अग्निकांड में एक माह की बच्ची गम्भीर रूप से झुलस गयी। सूचना मिलते ही एसडीएम अजीत कुमार सिंह तथा पुलिस बल मौके पर पहंुचा।

थाना कम्पिल क्षेत्र के गांव नुनेरा में करीब दोपहर 11 बजे संदिग्ध परिस्थितियों में झोपड़ियों में आग लग गई। सबसे पहले आग जितेन्द्र के घर से शुरूआत हुई उसके बाद क्रम में लगी नौ झोपड़ीयो को आग ने अपनी चपेट में ले लिया। जितेन्द्र के पिता रामनिवास अपने पुत्र के पास ही रहते हैं। जितेन्द्र की पत्नी लता शौच क्रिया के लिए सामने बने शौचालय में चली गई। जब शोर-शराबा मचा तो वह आनन-फानन में शौचालय से बाहर आयभ्ं तो घर के अन्दर देखा उसकी एक माह की पुत्री खाट नीचे झुलसी हुई पड़ी थी। आनन-फानन में उसे बाहर निकाला गया। उपचार के लिए सीएचसी लाया गया।

गाँव के ही रामनिवास अपने पुत्र जितेन्द्र के निकट ही झोपड़ी डालकर रह रहे है। शनिवार को जितेन्द्र की पत्नी लता शौच ले लिये चली गयी। घर में एक माह की नवजात बच्ची सो ररही थी। तभी अचानक आ ग लग गयी। जिससे उसकी झोपडी धूं-धूं कर जलने लगी। देखते ही देखते आग ने आस-पास की लगभग 9 झोपड़ी अपने कब्जे में ले लिया।

जिसमे जितेन्द्र के साथ ही साथ उसके पिता रामनिवास, छोटेलाल के पुत्र सेवाराम, नंदराम ,मुकेश व विजय व मंहगे लाल के पुत्र मुन्नालाल व राजीव के साथ ही अनिल पुत्र रामकुमार की भी झोपड़ी के साथ ही साथ ग्रहस्थी का सामान नकदी, जेबरात, अनाज सहित लाखो का नुकसान हो गया। आग से जितेन्द्र की नवजात बच्ची भी बुरी तरह झुलस गयी। जिसे सीएचसी में भर्ती किया गया। ग्रामीणों ने काफी मसक्कत के बाद आग पर काबू पाय।  घटना के लगभग दो घंटे के बाद दमकल मौके पर पंहुची। घटना की सूचना मिलने पर एसडीएम कायमगंज अजीत सिंह व थानाध्यक्ष वीरपाल सिंह तोमर ने मौके पर जाकर जाँच पड़ताल की।

अग्निकांड में नौ परिवारों के गृहस्थी का सामान,जेबरात तथा नकदी जलकर राख हो गई। अब यह ग्रामीण खुले आसमान में रहने को मजबूर हैं। सूचना पर एसडीएम एके सिंह,कम्पिल एसओ वीरपाल तोमर तथा क्षेत्रीय लेखपाल व कानूनगो मौके पर पहंुचे अग्निकांड परिवार वालों के जले हुए सामान का आंकलन किया जा रहा था। अगर समय से फायर बिग्रेड पहुंच जाती तो शायद इन गरीब ग्रामीणों के आशियाने बच सकते थे। एसडीएम ने अग्नि पीड़ितों को मुख्यमंत्री राहत कोष से सहायता दिलाने का आश्वासन दिया।

 

0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

CONTACT US

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Sending

Designed by Krypton Technology

Log in with your credentials

Forgot your details?