Farrukhabad : दहेज उत्पीड़न के चलते महिला को मौत के घाट उतारा, रिपोर्ट दर्ज न करने पर किया रोड जाम

सलमान अहमद, फर्रुखाबाद(शमशाबाद), N.I.T :  दहेज उत्पीड़न के चलते ससुरालीजनों द्वारा बिबाहिता को मौत के घाट उतार दिए एबं पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज नही किये से आक्रोशित मायके पक्ष के लोगों ने पीड़ित के नेतृत्व में मुख्य मार्ग पर जाम लगाया। उधर जाम की सूचना पाकर मौके पर पहुंची शमशाबाद पुलिस ने लाठियां पटककर भीड़ को खदेड़ा। दूसरी ओर आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर पत्थर चलाएं दोनों ओर से की गई जवाबी पत्थरबाजी में महिला सहित एक दर्जन लोग घायल जानकारी के अनुसार शमशाबाद थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम किसरोली हाल निबासी आबास बिकास फर्रुखाबाद निवासी रामदेव तिवारी ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी मोहनी उम्र 28 बर्ष का विवाह नवाबगंज थाना क्षेत्र के ग्राम शकरूलापुर निवासी विपिन कुमार मिश्रा पुत्र लल्लन मिश्रा के साथ किया था विवाह में यथा सक्तिके अनुसार दान दहेज भी दिया था लेकिन ससुराल पक्ष दिए गये दान दहेज़ से संतुष्ट नहीं थे उन्होंने बताया कि विवाह होने के बाद मेरी बेटी को दहेज उत्पीड़न के तहत मारपीट की जाने लगी कई बार समझाने बुझाने का प्रयास किया गया लेकिन बात नहीं बनी उन्होंने यह भी बताया कि बेटी के ससुराल वाले पिछले 1 साल से बेटी को घर नहीं भेज रहे थे उन्होंने बताया कि कई बार बेटी ने उन्हें अपने साथ मारपीट और उत्पीड़न की जानकारी दी थी उन्होंने आरोप लगाया है कि बेटी का ससुराल पक्ष दो लाख की रुपए की नगदी तथा एक मोटरसाइकिल की मांग कर रहा था जिसे वह पूरा नहीं कर पा रहा था उन्होंने यह भी बताया कि बीते दिवस को उन्हें सूचना दी गई क़ि उनकी बेटी ने घर के अंदर कमरे में पंखे के सहारे फांसी लगाकर जान दे दी है यह जानकारी सुनते ही घर परिवार के लोगों में कोहराम मच गया और आनन फानन में परिजन फर्रुखाबाद स्थित आवास विकास पहुंचे जहां ससुराल पक्ष के लोग बेटी के शव को फाँसीके फंदे से उतार चुके थे
इस संबंध में उन्होंने फर्रुखाबाद कोतवाली में बेटी की हत्या किए जाने की तहरी दामाद सहित अन्य लोगों के खिलाफ दी थी उन्होंने बताया कि पुलिस ने उन्हें गुमराह किया है उनकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई है और अभियुक्तों को गिरफ्तार नहीं किया गया और परिजन बेटी का शब् लेकर गांव आ गए
जैसे ही बेटी का सब गांव पहुंचा तो गांव में उदासी छा गयी रिपोर्ट नही लिखे जाने को लेकर ग्रामीणों ने सुबह 8:00 बजे बेटी का शव चारपाई पर लाकर मुख्य मार्ग कायमगंज फर्रुखाबाद स्थित ठंडी कुइयां चौराहा सड़क पर रख दिया और पेड़ आदि काट कर सड़क के दोनों डाल दिए तथा उल्टे-सीधे ट्रैक्टर-ट्रालियां वाहन खड़े कर दिए जिससे मुख्य मार्ग पर जाम लग गया जाम की सूचना पाकर शमशाबाद थाना पुलिस मौके पर पहुंची जहां पुलिस ने आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया ग्रामीणों क़ि हमें न्याय चाहिए हत्या केआरोपी गिरफ्तार किये जाये उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जाए जब तक जिलाधिकारी फर्रुखाबाद या फिर पुलिस अधीक्षक नही आ जाते जाम नही खोला जायेगा ऐशो शमशाबाद रविंद्र यादव पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे पुलिस को देखते ही लोगों में भगदड़ पड़ गई वही लोग शोर शराबा करने लगे इस शोर शराबे को देखते हुए पुलिस ने लाठियां लेकर ग्रामीणों को खदेड़ाना शुरू किया तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए उन्होंने ठंडी कुईया क़िसरोली मार्ग पर बड़ी संख्या में एकत्रित होकर पत्थरबाजी शुरू कर दी वही पुलिस ने भी ईट का जवाब पत्थर से देते हुए फेंके गए पत्थरो को उठा कर भीड़ पर फेके बताया गया है कि इस हादसे में कई लोग हलके फुल्के घायल हुए हैं वहीं कुछ पुलिसकर्मी भी फेके गये ईट पत्थरो के शिकार हुए हैं
बताया गया है कि इस पत्थरबाजी की घटना में पुलिस और पब्लिक के मध्य आधे घंटे तक पत्थरबाजी हुई जिसमें कांच की बोतलें भी फेंकी गई उधर सब के पास रो रही महिलाएं जिनके पास बैठी मृतका की मां राम कुमारी तिबारी ने बताया पुलिस ने उनकी समस्याओं को बिना सुने लाठियां पटकनी कर दी

उन्होंने शमसाबाद पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा क़ि अगर पुलिस चाहती तो मामले को सुलझाया जा सकता था लेकिन पुलिस ने पीड़ित की बात न सुनकर लाठिया पटकनी शुरू कर दी जिससे भगदड़ मच गयी महिलाओ ने मौके पर आये सीओ कायमगंज के आमने अपना दुखड़ा रोकर न्याय की गुहार की महिलाओं का आरोपों में यह भी कहना था कि पुलिस ने लाठियां पटक कर जहां ग्रामीणों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा वही महिलाओं को भी नहीं बख्शा उन्हें भी लाठी-डंडों से पीटा
उधर आक्रोशित महिलाओं ने पुलिस कर्मियो की कार्यशैली पर आक्रोश जताते हुए कहा कि पुलिस ने शव के पास रो रही महिलाओं को भी नहीं छोड़ा उन पर भी लाठी डंडे चलाए पुलिस की इस कार्यबाही की शिकार हुई महिलाओं में ममता देवी रीता निक्कू मंजू देवी विजयलक्ष्मी सावित्री देवी चंद्रावती सूर्यकांत रेशमा देवी गंजडुंडवारा मुन्नी देवी बृजेश कुमारी सबीना सुषमा देवी डिंपल तथा सरला तिवारी सहित कई महिलाएं घायल पुरुष घायल हुए हैं उधर मृतिका की मां रामकुमारी ने बताया कि बेटी के दो बच्चे है जिसमें बालक लड्डू और बेटी का नाम बेवी है मृतिका अपने चार भाइयों में अकेली थी इस घटना के दौरान लगभग ढाई घंटे तक पुलिस और पब्लिक के मध्य माथा पच्ची चलती रही
उधर मुख्य मार्ग पर जाम लगाये लोगों का कहना था कि उन्हें इंसाफ चाहिये उनकी रिपोर्ट दर्ज कराई जाए तथा अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए जब तक मौके पर जिलाधिकारी फर्रुखाबाद या पुलिस अधीक्षक नहीं आते जाम नहीं खोला जाएगा बही शमशाबाद पुलिस ग्रामीणों को तरह-तरह के आश्वासन देकर जाम खुलवाया जाने के लिए राजी कर रही थी आखिरकार सूचना पाकर मौके पर पहुंचे सीओ कायमगंज ने पीड़ित रामकुमार तिवारी से बार्ता की उन्हें सांत्वना दी और उनके दुख दर्द में शरीफ़ होकर दुख जताया उंहें हर तरह से सहयोग करने और उचित कार्रवाई का भरोसा देकर जाम खुलवाया जाम लगा रहने के कारण कायमगंज फर्रुखाबाद मार्ग पर दोनों ओर लंबी लंबी वाहनों की लाइने लग गई गयी जिससे फर्रुखाबाद दिल्ली मार्ग पर ढाई घंटे तक जाम रहा जाम में फसे बाहनो में बैठे लोग महिलाये और बच्चे बेहाल नजर आये
जाम खुलने के बाद ही लोगो ने राहत की सांस ली इस दौरान पुलिस ने जाम में प्रयुक्त एक टेक्टर ट्राली को भी अपने कब्जे में लिया

0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

CONTACT US

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Sending

Designed by Krypton Technology

Log in with your credentials

Forgot your details?