बुलन्दशहर इज्तिमा: पढ़े ऐसा क्या हुआ जब नमाज के लिए खुले शिवमंदिर के दरवाज़े, जुटे हैं देशभर के 10 लाख से ज्‍यादा मुसलमान

बुलन्दशहर, N.I.T. : उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr) के जौनपुर जिले में ग्रामीणों ने सांप्रदायिक सौहार्द की अदभूत मिसाल कायम कर दी। दरियापुर में चल रहे इज्तेमा (ijtema) में आ रहे मुस्लिम (Muslim) जाम में फंस गए तो ग्रामीणों ने प्राचीन शिव मंदिर परिसर में ज़ोहर की नमाज अदा कराने व्यवस्था कराई। नमाज के दौरान कोई परेशानी न हो, इसके लिए उनका पूरा ख्याल रखा गया। नमाज के बाद सभी को जलपान कराकर उन्हें इज्तमा के लिए खुशी-खुशी रवाना किया गया।

नगर के दरियापुर में तीन दिवसीय आलमी तब्लीगी इज्तेमा चल रहा है। प्रदेश के विभिन्न जिलों से इज्तमा में लोग पहुंच रहे हैं। इसके अलावा आसपास के गांवों के लोग भी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों व अपने-अपने वाहनों से इज्तमा में शरीक हो रहे हैं। इज्तमा में शामिल होने के लिए रविवार को मेरठ-हापुड़ की तरफ से काफी लोग आ रहे थे।

बुलंदशहर कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव जैनपुर के पास जाम में काफी लोग फंसे हुए थे और उसी दौरान ज़ोहर की नमाज का वक्त हो गया। बताया गया कि कुछ लोगों ने सड़क स्थित शिव मंदिर के बाहर नमाज पढ़नी शुरू कर दी थी। जैनपुर के ग्रामीणों ने जब लोगों को सड़क पर नमाज अदा करते देखा तो उन्हें प्राचीन शिव मंदिर के प्रांगण में नमाज पढ़ने के लिए कहा।

हिंदुओं का सहयोग मिलने के बाद करीब 150 मुसलमान ने वुजू करके मंदिर प्रांगण में ज़ोहर की नमाज अदा की। नमाजियों को कोई परेशानी न हो काफी हिंदू भाई मंदिर प्रांगण के बाहर ही खड़े रहे और शांतिपूर्वक नमाज अदा कराने में सहयोग किया। प्राचीन शिव मंदिर में नमाज अदा कराकर जैनपुरवासियों ने जिले में हिंदू मुस्लिम एकता की नई मिसाल कायम कर आपसी सौहार्द का संदेश दिया है। फेसबुक, व्हाट्सऐप, ट्विटर पर जैनपुर के ग्रामीणों की खूब तारीफ हो रही हैं।

मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना…
बुलंदशहर। रविवार को जब प्राचीन शिव मंदिर परिसर में मुस्लिम भाई जौहर की नमाज अदा कर रहे थे, सभी लोगों की जुबां पर यही बात थी कि मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना। ग्रामीण लालू सिरोही, चमन शर्मा, सचिन गिरि व लक्ष्मण सिंह का कहना है कि मजहब सब एक हैं। हिंदू-मुस्लिम हमारी सोच का फर्क है। नमाज के दौरान मुस्लिम भाइयों का पूरा ख्याल रखा गया था।

खुश दिखे मंदिर के प्रबंधक
प्राचीन शिव मंदिर कमेटी के प्रबंधक कन्हैया लाल शर्मा काफी खुश हैं। उनका कहना है कि मुस्लिम भाइयों ने मंदिर प्रांगण में नमाज अदा की। यह जैनपुर वासियों के लिए बड़े गर्व की बात है। उनका कहना है कि हिंदू-मुस्लिमों के बीच फूट पैदा करने वाले लोगों के मुंह पर यह तमाचा है। ग्राम प्रधान पति गंगा प्रसाद का कहना है कि मुस्लिम भी हमारे भाई हैं। मजहब की दीवार कभी आड़े नहीं आएगी।

अधिकारियों के निर्देश पर पैसेंजर में चार कोच अतिरिक्त लगाकर ट्रेन को दो घंटे देरी से रवाना किया गया। नौचंदी और संगम एक्सप्रेस में भी भारी भीड़ रही। रोडवेज बसों में भी लोगों की भीड़ रही। जाम में फंसने से बसों को वापस लौटने में देरी हुई। शाम को सोहराबगेट बस अड्डा खाली पड़ा रहा।
तब्लीगी इज्तमा
बुलंदशहर में पिछले दो दिन से मुस्लिम समाज का तब्लीगी इज्तमा चल रहा है। इज्तमा में प्रदेश भर के मुस्लिम समाज के लोग भारी संख्या में उमड़ रहे हैं। सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, बागपत और मेरठ के लोग सिटी स्टेशन से ट्रेनों के द्वारा बुलंदशहर रवाना हो रहे हैं। रविवार को भी सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और शामली से पहुंचने वाले सिटी स्टेशन पर उतरे।
बता दें कि यहां से पौने ग्यारह बजे खुर्जा रवाना होने वाली मेरठ-खुर्जा पैसेंजर ट्रेन एक मिनट के अंदर पूरी तरह पैक हो गई। ट्रेन से ज्यादा यात्री स्टेशन पर बच गए तो लोगों ने स्टेशन मास्टर बालेश्वर का घेराव कर पैसेंजर में अतिरिक्त कोच लगाने की मांग की। बालेश्वर ने उच्चाधिकारियों को मामले की सूचना दी। वहां से निर्देश मिलने के बाद ट्रेन में दो कोच लगाए गए लेकिन इनसे बात नहीं बनी। लोगों ने दोबारा हंगामा करना शुरू कर दिया।
तब्लीगी इज्तमा
इसके बाद दो और कोच बढ़ाए गए। इस पूरी प्रक्रिया में करीब दो घंटे लग गए। पैसेंजर को पौने ग्यारह बजे की बजाय दोपहर करीब पौने एक बजे रवाना किया जा सका। इसके बाद खुर्जा जाने वाली सभी पैसेंजर ट्रेनों का भी यही हाल रहा। शाम को इलाहाबाद जाने वाली संगम और नौचंदी एक्सप्रेस में भी भारी भीड़ बुलंदशहर के लिए रवाना हुई। लोग रिजर्वेशन वाले डिब्बों में चढ़ गए। पुलिस के दखल के बाद ही वे बाहर निकले।
तब्लीगी इज्तमा
एसपी ने संभाली कमान
भीड़ के चलते व्यवस्था धड़ाम रही। बिजली बंबा पुलिस चौकी और हापुड़ रोड पर एल ब्लॉक तिराहे पर भी भीषण जाम लगा रहा। खरखौदा में भी वाहनों की लंबी लाइन लगी रही। बुलंदशहर रोड पर सबसे ज्यादा जाम की स्थिति रही। सिटी रेलवे स्टेशन पर एसपी सिटी रणविजय सिंह, सीओ ब्रहमपुरी हरिमोहन सिंह, एसओ देहलीगेट विजय गुप्ता, इंस्पेक्टर लालकुर्ती देवेश शर्मा, इंस्पेक्टर सदर सुभाष अत्री, एसओ रेलवे रोड विनय कुमार पहुंचे। एसपी सिटी का कहना है कि सोमवार के लिए भी स्टेशन पर फोर्स लगाई गई है।
तब्लीगी इज्तमा
पहले से करनी थी तैयारी
इज्तमा में उमड़ने वाली भीड़ के अनुमान को देखते हुए प्रशासन को रेलवे से अतिरिक्त ट्रेनों का इंतजाम कराना चाहिए था या ट्रेनों में अतिरिक्त कोच बढ़ाए जाने चाहिए थे। लेकिन रेलवे ने ऐसा नहीं किया। हंगामा और परेशानी होने के बाद चेते अधिकारियों ने अतिरिक्त कोच लगाकर राहत देने की कोशिश तो की लेकिन, ये कोशिश नाकाफी रही।
तब्लीगी इज्तमा
रोडवेज का भी बुरा हाल 
ट्रेनों के अलावा रोडवेज बसों में भी भीड़ के चलते बुरा हाल है। जो बस बुलंदशहर जा रही वह जाम का शिकार बन रही है। रविवार को एक-एक कर अधिकतर बसे इज्तमा के लिए रवाना हो गई। शाम को यह हालत हो गई कि बस अड्डे पर बस लौटकर ही नहीं आई। अड्डा बस विहीन होकर सुनसान हो गया। लोग बसों का इंतजार करते रहे। अधिकारियों ने बताया कि आने वाली बसे बुलंदशहर और हापुड़ में लगे जाम में फंसी है।
0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

CONTACT US

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Sending

Designed by Krypton Technology

Log in with your credentials

Forgot your details?